अभिनेता कादर खान और अमिताभ बच्चन ने एक साथ कई फिल्में कीं. इनमें अदालत, सुहाग, मुकद्दर का सिकंदर, नसीब और कुली जैसी शानदार फिल्में शामिल हैं. कम लोग ही जानते हैं कि कादर खान ने अमर अकबर एंथनी, सत्ते पे सत्ता और शराबी जैसी फिल्मों के संवाद भी लिखे. लेकिन कादर खान की मौत के साथ ही अमिताभ से जुड़ी उनकी एक ख्वाह‍िश अधूरी ही रह गई. 
कादर खान ने बताया था कि अमिताभ बच्चन को लेकर एक फिल्म बनाना चाहते थे. उनके न‍िधन के बाद ये तमन्ना अब तक पूरी नहीं हो सकी. कादर खान ने इस बारे में बताया था, "मैं अमिताभ बच्चन, जया प्रदा और अमरीश पुरी को लेकर फिल्म जाहिल बनाना चाहता था. उसका निर्देशन भी मैं खुद करना चाहता था. लेकिन खुदा को शायद कुछ और ही मंजूर था."
कादर खान ने बताया कि इसके फौरन बाद फिल्म कुली की शूटिंग के दौरान अमिताभ बच्चन को जबरदस्त चोट लग गई और फिर वो महीनों अस्पताल में भर्ती रहे. अमिताभ के अस्पताल से वापस आने के बाद फिर कादर खान अपनी दूसरी फिल्मों में बहुत ज्यादा व्यस्त हो गए. 
कादर खान ने बताया अमिताभ बच्चन राजनीति में आ गए. उसके बाद कादर खान की ये फिल्म बन नहीं सकी. वैसे कादर खान और अमिताभ के र‍िश्ते भी बीच में काफी खराब हो गए. इसकी वजह अमिताभ बच्चन का राजनीत‍ि में जाना था. 
कादर खान अमिताभ के बहुत बड़े फैन थे, वो ब‍िग बी की तारीफ में कहते थे, "वो संपूर्ण कलाकार हैं. अल्लाह ने उनको अच्छी आवाज, अच्छी जबान, अच्छी ऊंचाई और बोलती आंखों से नवाजा है." 

कादर खान ने ह‍िंदी स‍िनेमा की 300 फिल्मों में काम किया. 200 से ज्यादा फिल्मों के संवाद ल‍िखे.