न्यूयॉर्क । काम के बाद ईमेल चेक करना आपके रिश्तों को भी प्रभावित कर सकता है। इस आदत से आपकी और आपके पार्टनर की सेहत पर बुरा असर डालता है। यह अध्ययन वर्जीनिया टेक यूनीवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने किया है। उन्होंने यूनीवर्सिटी के जिन कर्मचारियों को इस अध्ययन में शामिल किया जो हर स्तर के चिड़चिड़ेपन के शिकार थे। यह उनकी सेहत को खराब करने में भी सक्षम था। मगर, इनमें से बहुत कम लोगों को स्थिति की गंभीरता का अंदाजा था। उन्हें यह अहसास भी नहीं था कि उनकी इस आदत से उनके साथी पर कितना तनाव बढ़ रहा है।शोध के सह लेखक और पैंपलिन कॉलेज ऑफ बिजनेस में मैनेजमेंअ के असोसिएट प्रोफेसर विलियम बेकर ने कहा कि ऑफिस और निजी जिंदगी की जरूरतों को लेकर कर्मचारियों में असमंजस की स्थिति रहती है। इससे उनमें चिड़चिड़ापन भी बढ़ता है और उनकी पेशेवर व निजी जिंदगी प्रभावित होती है। फ्लेक्सिबल वर्क बाउंड्री अक्सर वर्क विदाउट बाउंड्री में बदल जाता है। इसमें बॉस को लगता है और उसके कर्मचारी कभी भी ऑफ ड्यूटी नहीं होते हैं। ज्यादातर कर्मचारी सोने से पहले आखिरी काम ईमेल चेक करने का करते हैं और सुबह उठने के बाद सबसे पहला काम भी यही करते हैं। इस अध्ययन में बेकर ने दावा कि है कि लगातार मेल चेक करने की अपेक्षा से ही कर्मचारी, उसके साथ और बच्चों में तनाव व चिड़चिड़ापन बढ़ जाता है। इस अध्ययन के बाद शोधकर्ताओं ने कहा कि ऑफिस के काम को कहीं से भी करने का लचीलापन लोगों में तनाव का स्तर बढ़ा रहा है। इससे कर्मचारियों में अपनी सामाजिक परिस्थिति के बारे में जागरूकता कम हो रही है।