मध्य प्रदेश की भोपाल लोकसभा सीट पर रोज नए-नए दिलचस्प मोड़ सामने आ रहे हैं. एक नए घटनाक्रम में कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह के समर्थन में साधुओं की फौज लेकर उतरे कंप्यूटर बाबा अचानक भोपाल से गायब हो गए हैं. जहां वो हजारों साधुओं के साथ समागम कर रहे थे, अब समागम स्थल खाली नजर आ रहा है.

दरअसल, दिग्विजय सिंह के समर्थन में धूनी रमाने वाले कंप्यूटर बाबा की शिकायत बीजेपी ने निर्वाचन आयोग से कर दी है. इसके बाद कलेक्टर और जिला निर्वाचन अधिकारी सुदाम खाड़े ने बीजेपी की शिकायत पर कंप्यूटर बाबा के खिलाफ हठ योग और धूनि मामले की जांच शुरू कर दी है.बताया जा रहा है कि इसी जांच की वजह से शायद कंप्यूटर बाबा नजर नहीं आ रहे हैं. हालांकि कंप्यूटर बाबा के समागम का आखिरी दिन भी गुरूवार को ही था और शुक्रवार को भोपाल सीट के लिए प्रचार का आखिरी दिन भी है. इसलिए अब वे कम सक्रिय नजर आ सकते हैं. हालांकि अभी तक चुनाव आयोग के आदेश के बारे में कंप्यूटर बाबा की तरफ से कोई बयान सामने नहीं आया है.बता दें कि ये वही कंप्यूटर बाबा हैं जो शिवराज सिंह चौहान सरकार में मंत्री भी थे. इन्हें तत्कालीन सरकार ने मंत्री बनाया था. तब भी ये धूनी रमाने को लेकर चर्चा में आए थे. हालांकि बाद में ये शिवराज सरकार से नाराज हो गए और विधानसभा चुनाव में खुलकर शिवराज सरकार के विरोध में उतर गए थे और कांग्रेस का समर्थन किया था.