इन्दौर । लोबान की धुनी के बीच मखमली चादर का जुलूस अक़ीदत के साथ बांक की मस्जिद से निकला तो माहौल सूफियाना हो उठा। सिरपुर तालाब पर हज़रत दावलशाह वली के 13वें उर्स का आगाज़ परम्परागत रूप से हुआ। चादर के आगे बैंड-बाजे और घोड़े चल रहे थे। पीछे चादर को थामे हुए उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी, उर्स कमेटी के संयोजक हाजी सोहराब पटेल, अध्यक्ष सादिक़ पटेल, कांग्रेस नेता छोटू शुक्ला, इमामुद्दीन तिगाला, भरत पटवारी, समाजसेवी अकबर भाई, कोषाध्यक्ष एहसान ठेकेदार, सचिव सादिक अली, खुर्शीद मंसूरी, मुकेश ठाकुर, उर्स कमेटी सदस्य मदन चौधरी, कुदरत पटेल कबाड़ी, दिलीप चौधरी, अशोक पटेल, नाना पटेल ठेकेदार, मुंशी काका पटेल, दिलावर पटेल आदि शामिल थे। सूफी जावेद बाबा वारसी ने फातिहा पढ़ी और दुआ मांगी। 
संयोजक हाजी सोहराब पटेल ने बताया असर की नमाज़ बाद शाम 6 बजे चादर का जुलूस बांक स्थित मक्का मस्जिद से निकला।जो सिरपुर तालाब पर बनी हज़रत दावलशाह वली की दरगाह पर मग़रिब की अज़ान से पहले पहुंचा। जहां अकीदतमंदों ने चादर और गुलाब के फूल पेश कर देश की तरक्की और ख़ुशहाली की दुआ मांगी। जीतू पटवारी ने भी चादर और गुलाब के फूल पेश करने के बाद कहा इस तरहवक स्थल सद्भावना को बढ़ाते हैं। उन्होंने कहा मैं हर साल यहां पर मुराद लेकर हाज़िर होता हूँ और मुझे यहां से लाभ मिलता है।
:: अशोक ज़ख़्मी की कव्वाली आज :: 
उर्स में कव्वाली का आयोजन भी किया गया है।जिसमें मुल्क के नामवर कव्वाल शिरकत करेंगे। बनारस के मशहूर कव्वाल अशोक ज़ख़्मी की कव्वाली आज 14 जून को रात 9 बजे से होगी। नागपुर के लोकप्रिय कव्वाल छोटा मजीद शोला भी इंदौर आ रहे हैं। फनकार मजीद शोला 15 जून को रात 9.30 बजे से सूफियाना कव्वाली सुनाएंगे। मजीद शोला इन दिनों देश भर में कव्वाली की महफ़िल लूट रहे हैं। मुल्क के मक़बूल कव्वाल मजीद शोला और अशोक ज़ख़्मी अक़ीदत,मोहब्बत के कलाम सुनाएंगे। उर्स के आखिरी दिन 16 जून को सुबह 10 बजे रंगे महफिल, 11 बजे लंगर होगा।  संयोजक हाजी सोहराब पटेल, उर्स कमेटी के अध्यक्ष सादिक़ पटेल  ने बताया कि ये उर्स हिन्दू.मुस्लिम एकता का प्रतीक है। चादर के जुलूस में नावदापंथ, सिंहासा, बांक, कलारिया, जवाहर टेकरी आदि क्षेत्र के बड़ी संख्या में हिन्दू-मुस्लिम भाइयों ने शिरकत की।