सांसद दुर्गादास उइके ने पहले ही सत्र में उठाया मामला


विशाल बत्रा @khabarmantri.com
बैतूल : बैतूल-हरदा-हरसूद संसदीय क्षेत्र की जनता ने पिछले आम चुनावों में दुर्गादास उइके को वोट देते समय मन में जो अपेक्षाएं संजोई होगी, सांसद बनने के चंद महिनों के भीतर ही वे अपेक्षाओं पर खरा उतरने का प्रयास करने लगे हैं। इसी तारतम्य में उन्होने शुक्रवार को संसदीय क्षेत्र के विभिन्न रेलवे स्टेशनों पर ट्रेनों के स्टॉपेज सहित यात्री सुविधाओं की बढ़ोतरी का मामला शुक्रवार को लोकसभा में उठाया। सांसद श्री उइके ने ना केवल मामला उठाया अपितु पूरी तैयारी के साथ अपने संसदीय क्षेत्र के रेलवे स्टेशनों का पक्ष संसद के पटल पर रखा। लोकसभा के सभापति ओपी बिरला को संबोधित करते हुए हुए सांसद डीडी उइके रेल मंत्री पियुष गोयल के समक्ष अपनी मांगे रखी। उन्होने कहा कि सांसद मैं जनजातीय बाहुल्य लोकसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करता हूॅं। मेरे संसदीय क्षेत्र के हरदा जिला मुख्यालय पर लंबे समय से रेल ओवरब्रिज की मांग की जा रही है। इस जगह पर घण्टों रेलवे गेट बंद रहने के कारण आवागमन बाधित होता है, इसीलिए रेल ओवरब्रिज स्वीकृत किया जाए। इसी प्रकार मेरे संसदीय क्षेत्र के बरबटपुर रेलवे स्टेशन पर अंडमान एक्सप्रेस के स्टॉपेज की मांग वर्षों से लंबित चल रही है, मैं रेल मंत्री जी से इसे पूरी करने का आग्रह करता हूॅं। सांसद डीडी उईके अपने संबोधन में मुलताई रेलवे स्टेशन पर 12159/12160 अमरावती-जबलपुर एक्सप्रेस के स्टापेज की मांग, बैतूल के लिए 12539/12540 यशवंतपुर-लखनउ एक्सप्रेस, 12687/12688 देहरादून एक्सप्रेस, 16317/16318 कन्याकुमारी-जम्मूतवी हिमसागर एक्सप्रेस, 18245/18246 बिलासपुर-बिकानेर एक्सप्रेस, 18243/18244 बिलासपुर-भगत की कोठी एक्सप्रेस सहित अन्य ट्रेनों के स्टापेज की मांग रेल मंत्री से की है। उन्होने रेल मंत्री का ध्यान आकर्षित करते हुए कहा कि बैतूल रेलवे स्टेशन नागपुर रेल मंडल का महत्वपूर्ण रेलवे स्टेशन है जहां 2 लाख से अधिक आबादी रेल सेवाओं का उपयोग करती है। उक्त ट्रेनों के स्टापेज से नागरिकों को बेहतर सुविधा उपलब्ध हो सकेगी। 

 

न्यूज़ सोर्स : khabarmantri News Network