रायपुर। महात्मा गांधी के 150 वीं जयंती समारोह के अवसर पर गत 4 अक्टूबर को धमतरी जिले के ग्राम कण्डेल से प्रारंभ “गांधी विचार पदयात्रा“ आज सुबह रायपुर जिले के ग्राम खोरपा से प्रारंभ होकर ग्राम कोलर और फिर यहां से रवाना होकर छैछानपैरी पहुॅची। ग्राम खोरपा, कोलर और छैछानपैरी में सभा का आयोजन भी किया गया है। पदयात्रा में नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिव डहरिया, विधायकगण मोहन मरकाम, धनेन्द्र साहू, अमितेष शुक्ला, देवेन्द्र यादव, श्रीमती लक्ष्मी ध्रुव सहित जनप्रतिनिधियां और ग्रामीणजन बड़ी संख्या में शामिल हुए।
इन सभाओं को संबोधित करते हुए नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिव डहरिया ने कहा कि समाज के विकास में जनता की सहभागिता जरूरी है। सत्य और अहिंसा के आधार पर ही महात्मा गांधी ने देश को आजादी दिलायी थी। उनके आदर्शों और संकल्पना को पूरा करने में सभी का सहयोग आवश्यक है। उन्होंने ग्राम कोलर में मुख्यमंत्री समग्र योजना के तहत सीमेंट कंक्रीट रोड  के लिए 10 लाख रूपये स्वीकृत करने की घोषणा की।
मोहन मरकाम ने कहा कि महात्मा गांधी का मानना था कि भारत की आत्मा गांव में बसती है। छत्तीसगढ़ राज्य में महात्मा गांधी के सपनों को साकार करने में उल्लेखनीय कार्य किया जा रहा है। इन सभाओं को विधायकगण सर्व धनेन्द्र साहू, अमितेष शुक्ला, देवेन्द्र यादव, श्रीमती लक्ष्मी धु्रव ने भी संबोधित किया और बताया कि महात्मा गांधी के सत्य, स्वावलंबन और करूणा को केन्द्रित कर यह पदयात्रा की जा रही है।  
उल्लेखनीय है कि आज दोपहर के बाद यह पदयात्रा छैछानपैरी से होते हुए मुजगहन और फिर सेजबहार पहुॅचेगी। यह पदयात्रा कल 10 अक्टूबर को ग्राम सेजबहार से प्रारंभ होगी। इसके बाद यह यात्रा 10रू30 बजे डूंडा, 12रू30 बजे संतोषी नगर और 2 बजे रायपुर के गांधी मैदान में पहुॅचेगी। डूंडा और संतोषी नगर में भी सभाओं का आयोजन किया गया है। गांधी मैदान में गांधी विचार यात्रा का समापन समारोह आयोजित किया गया है।