1000 रन और 100 विकेट लेने वाले दूसरे भारतीय गेंदबाज बने अश्विन
एक ही टेस्ट में पांच विकेट के साथ ही अर्धशतक लगाने वाले पहले बल्लेबाज बने 
भारतीय टीम के अनुभवी स्पिनर आर अश्विन ने इंग्लैंड के खिलाफ दूसरे टेस्ट में एक साथ कई रिकार्ड  अपने नाम किये  है। इस मैच में वह एक हजार रन और सौ विकेट लेने वाले दूसरे भारतीय गेंदबाज बने हैं। इससे पहले केवल पूर्व कप्तान कपिल देव के नाम ही यह अहम उपलब्धि है। 
कपिल और अश्विन के अलावा कोई अन्य भारतीय ये रिकार्ड नहीं बना पाया है। जहां अश्विन ने इंग्लैंड के खिलाफ ये रिकार्ड बनाया। वहीं कपिल ने ऑस्ट्रेलिय, इंग्लैंड, पाकिस्तान और वेस्टइंडीज के खिलाफ 1000 से अधिक रन और 100 विकेट लिए थे। अश्विन अपने घरेलू मैदान पर एक ही टेस्ट मैच में पांच विकेट लेने के साथ ही अर्धशतक लगाने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी बने हैं। इस रिकार्ड के साथ ही उन्होंने वेस्टइंडीज के पूर्व तेज गेंदबाज मैल्कम मार्शल को पीछे छोड़ दिया। वहीं न्यूजीलैंड के पूर्व ऑलराउंडर रिचर्ड हेडली की बराबरी कर ली।  अश्विन ने इंग्लैंड के खिलाफ दूसरे टेस्ट के तीसरे दिन अर्धशतकीय पारी खेली। इस पारी के साथ ही वह एक टेस्ट में 6 बार अर्धशतक और 5 विकेट लेने वाले खिलाड़ी बन गए हैं। इसी के साथ ही उन्होंने मार्शल को पीछे छोड़ते हुए हेडली की बराबरी की। मार्शन ने 5 विकेट लिए थे जबकि हेडली ने 6 बार ये कारनाम किया है। 
हरभजन से माफी मांगी
अश्विन ने रविवार को हरभजन सिंह को पीछे छोड़कर भारतीय सरजमीं पर सबसे ज्यादा विकेट चटकाने वाले गेंदबाजों की सूची में दूसरे नंबर पर पहुंचने के बाद अपने सीनियर गेंदबाज से माफी मांगी। अश्विन ने कहा, ‘‘ जब मैंने 2001 श्रृंखला में हरभजन भाई को खेलते देखा था तब मैंने यह सोचा थी नहीं था कि देश के लिए ऑफ स्पिनर के तौर पर खेलूंगा। मैं उस समय अपने राज्य के लिए खेल रहा था और बल्लेबाजी में अपना करियर बनाना चाहता था।’’ 
उन्होंने कहा कि शुरुआती दौरे में टीम के उनके साथी खिलाड़ी हरभजन की तरह गेंदबाजी करने पर उनका मजाक उड़ाते थे।
उन्होंने कहा,‘‘ उस उम्र के मेरे साथी खिलाड़ी मेरा मजाक उड़ाया करते थे, क्योंकि मैं भज्जू भाई की तरह गेंदबाजी करता था। वैसे स्थिति से आने के बाद उनके रिकार्ड को तोड़ने के लिए आपको अविश्वसनीय रूप से विशेष होना चाहिए। मुझे इसके बारे में पता नहीं था, अब जब मुझे इसके बारे में पता है, तो मुझे खुशी हो रही है। माफ करें, भज्जू भाई।’’ अश्विन ने 29 बार पांच विकेट झटकने का कारनामा किया और सात बार उन्होंने 10 विकेट चटकाये हैं जिसमें एक पारी में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 59 रन देकर सात विकेट और मैच में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 140 रन देकर 13 विकेट लेने का रहा है।अश्विन ने घरेलू सरजमीं पर 266 विकेट 22.67 के औसत से चटकाये हैं। महान स्पिनर अनिल कुंबले भारत में सर्वाधिक विकेट चटकाने वाले गेंदबाज हैं जिन्होंने 24.88 के औसत से 350 विकेट लिये हैं।