रायपुर :  मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आज देर शाम सागौन बंगले पहुंचकर पूर्व मुख्यमंत्री श्री अजीत जोगी के पार्थिव शरीर पर पुष्पचक्र अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। इस अवसर पर उन्होंने श्री जोगी की धर्मपत्नी श्रीमती रेणु जोगी और पुत्र श्री अमित जोगी से मिलकर शोक संवेदना व्यक्त की और उन्हें ढांढस बंधाया। 

    मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री श्री अजीत जोगी के जीवन को वे तीन हिस्सों में देखते हैं, जिसमें वे मेघावी छात्र, दक्ष प्रशासनिक अधिकारी और अच्छे राजनेता के रूप में नजर आते है। श्री बघेल ने कहा कि विपरीत परिस्थिति में भी उन्होंने संघर्ष का दामन नहीं छोड़ा। लगातार समस्याओं से जूझने वाले बहुत ही जीवट और संघर्षशील व्यक्तित्व के धनी थे। छत्तीसगढ़ के माटीपुत्र श्री जोगी के निधन से अपूरणीय क्षति हुई है। मैं उनकी आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना करता हूं। इस अवसर पर छत्तीसगढ़ मंत्रिमण्डल के सदस्यों और विधायकगणों ने भी श्री अजीत जोगी के पार्थिव शरीर पर पुष्प चक्र अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। ज्ञातव्य है कि छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री श्री अजीत जोगी का आज रायपुर के एक निजी अस्पताल में निधन हो गया। छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा उनके निधन पर तीन दिन का राजकीय शोक घोषित किया गया है। श्री जोगी का अंतिम संस्कार कल 30 मई को पूरे राजकीय सम्मान के साथ गौरेला में होगा।