नई दिल्ली कोरोना संकट के दौरान दक्षिणी दिल्ली के खान मार्केट में स्थित खान चाचा रेस्टोरेंट से बरामद हुए ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर्स मामले की जांच को दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच को ट्रांसफर कर दिया गया है। क्राइम ब्रांच अब इस गोरखधंधे की कड़ियां जोड़कर पूरे गिरोह का पर्दाफाश करेगी।  

जानकारी के अनुसार, दिल्ली पुलिस ने शुक्रवार को खान मार्केट स्थित खान चाचा रेस्टोरेंट से 96 ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर बरामद किए थे। पुलिस ने यह जब्ती कारोबारी नवनीत कालरा पर दूसरे दिन कार्रवाई के दौरान की।इससे पहले छह मई को लोधी कॉलोनी पुलिस टीम ने सेंट्रल मार्केट स्थित एक रेस्टोरेंट और छतरपुर स्थित एक फॉर्म हाउस से 419 ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर बरामद किए गए थे। इसके बाद पुलिस की टीम रेस्टोरेंट के संचालक नवनीत कालरा के आने ठिकानों पर लगातार छापेमारी कर रही है।

साउथ दिल्ली के रेस्टोरेंट्स में पुलिस की छापेमारी, अब तक 524 ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर बरामद

कालरा रेंस्टोरेंट से ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर की कालाबाजारी कर रहा था, जिसकी सूचना पुलिस को मिल गई थी। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए छापेमारी की और फिर 524 ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर बरामद कर लिए। पुलिस उपायुक्त अतुल कुमार ठाकुर ने बताया कि गिरफ्तार किए गए गौरव सिंह और अन्य से पूछताछ के बाद पुलिस ने आगे छापेमारी जारी है।

छापे कालरा से जुड़े 

अभी तक जितनी भी जगहों पर छापेमारी की गई है वह सभी कारोबारी नवनीत कालरा से संबंधित थीं। ऐसे में पुलिस अब नवनीत की तलाश कर रही है। पुलिस उसके सभी संभावित ठिकानों पर नजर बनाए हुए है।

यूरोप से मंगाए गए थे ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर

सूत्रों के अनुसार, नवनीत कालरा ने लंदन ने रहने वाले अपने दोस्त की कंपनी मैट्रिक्स सैल्यूसर के संपर्कों की सहायात से यूरोप से ये ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर मंगाए थे।