नई दिल्ली । दोनों एक-दूसरे से प्यार करते थे। शादी करके सात जनमों तक एक-दूजे के हो जाना चाहते थे। घरवालों को मनाने की बहुत कोशिश की लेकिन घरवालों ने रिश्ते से इंकार कर दिया। आखिर हारकर दोनों ने फांसी लगाकर जान दे दी। जो घरवाले जीते-जी उनके रिश्ते के लिए राजी नहीं थे, मरने के बाद उन्हीं ने अंतिम संस्कार से पहले उनकी शादी कराई। मामला महाराष्ट्र के जलगांव जिला स्थित वडे गांव का है।
जानकारी के मुताबिक पलाड गांव के रहने वाले 22 वर्षीय मुकेश सोनावाने और 19 वर्षीय नेहा ठाकरे एक-दूसरे से प्यार करते थे। लेकिन उनके घरवालों ने यह कहते हुए शादी से इंकार कर दिया कि दोनों एक ही गोत्र से आते हैं। इसके बाद मुकेश और नेहा काफी निराश हो गए। कोई और सूरत न निकलती देख दोनों ने अपनी जिंदगी खत्म करने का फैसला कर लिया। रविवार की सुबह दोनों ने फांसी लगाकर जान दे दी। न्यूज 18 की खबर के मुताबिक दोनों पिछले कुछ महीने से अपने चाचा के गांव वडे में रहते थे। पुलिस ने बताया कि मुकेश ने नेहा के घरवालों के पास शादी का प्रस्ताव भेजा था। लेकिन उन लोगों ने मना कर दिया। घरवालों के शादी से इंकार करने के बाद ही दोनों ने जान दी। 
घटनास्थल से कोई सुसाइड नोट नहीं बरामद हुआ है। हालांकि सुसाइड से पहले मुकेश ने गुडबाय का वॉट्सअप स्टेटस लगाया था। दोनों का शव मिलने के बाद इसकी सूचना पुलिस को दी गई थी। इसके बाद दोनों की बॉडी को पोस्टमार्टम के लिए ले जाया गया। पोस्टमार्टम के बाद दोनों के शव गांव ले जाए गए और दोनों परिवार के लोगों ने अंतिम संस्कार से पहले दोनों की विधिपूर्वक शादी कराई।