मॉडल टाउन के उद्योगपति विकास गर्ग पर युवती को ब्लैकमेलिंग के केस में फंसाने का दांव उल्टा पड़ गया है। महिला थाना पुलिस ने कोर्ट की फटकार के बाद अब गिरफ्तार युवती के आरोप पर विकास के खिलाफ शादी का झांसा देकर दुराचार करने और जान की धमकी देने का केस दर्ज किया है। युवती ने सुबूत के तौर पर 60 फोटो और वीडियो पुलिस को सौंपा है। विकास गर्ग अब गिरफ्तारी के डर से अंडरग्राउंड हो गया है। पति को बचाने के लिए पुलिस से गुहार लगाने वाली पत्नी की भी इस मामले में परेशानी बढ़ गई है। 

11 जुलाई को विकास गर्ग की पत्नी ने युवती के खिलाफ पति को ब्लेकमेल करने और पैसे मांगने का आरोप लगाया था। विकास की पत्नी की शिकायत पर पुलिस ने देर शाम युवती को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया। यहां कोर्ट ने पूछा कि क्या युवती की गिरफ्तारी से पहले कोर्ट से अनुमति ली गई थी तो पुलिस दाएं-बाएं झांकने लगी। दरअसल, सूर्यास्त के बाद किसी भी महिला को गिरफ्तार करने के लिए पहले कोर्ट से अनुमति लेनी पड़ती है। कोर्ट ने युवती का पक्ष जाना तो उसने जज के सामने अपनी और विकास गर्ग की वीडियो और फोटो सुबूत के तौर पर दिखा दिए। कोर्ट ने इसके आधार पर युवती को छोड़ दिया। पुलिस को मामले की नए सिरे से जांच के आदेश दिए। महिला थाना डीएसपी खुद कोर्ट में पेश हुईं।

 

2010 में हुई थी दोनों की जान-पहचान
युवती ने बताया कि जनवरी 2010 में एक जानकार के माध्यम विकास गर्ग के साथ उसकी जान-पहचान हुई थी। उसने बातों-बातों में उसका मोबाइल नंबर ले लिया। इसके बाद उसने बातचीत शुरू कर दी। गर्ग ने 2014 में राधे-कृष्णा कॉम्पलेक्स के पास एक ऑफिस में उसकी नौकरी लगवा दी। 

 

 

पत्नी को तलाक दे युवती से शादी का किया था वादा 
विकास गर्ग ने युवती से कहा कि वह अपनी पत्नी से बहुत परेशान है और जल्द ही उसे तलाक दे देगा। इसके बाद, उससे शादी कर लेगा। युवती उसके बहकावे में आ गई। फिर, उसको एक ऑफिस में ले जाकर विकास ने शारीरिक संबंध बनाए। 

 

 

मेहंदीपुर ले जाकर रचाई शादी 
युवती का आरोप है कि वह जब भी शादी के लिए कहती तो विकास टालमटोल करने लगता। वह उसको लगातार बाहर भी लेकर जाता रहा। जहां उसने जबरदस्ती शारीरिक संबंध बनाए और आपत्तिजनक हालत में फोटो व वीडियो बनाए। विकास गर्ग हर रोज कई-कई बार फोन करता था। 8-9 साल इस तरह से बिताने के बाद 2018 में उसे मेहंदीपुर ले गया। जहां उसने माला डालकर फेरे लेकर अपनी पत्नी के रूप में स्वीकार किया। 

 

विकास की पत्नी भी देती थी धमकी 
युवती के मुताबिक, वह विकास को अपने घर ले चलने के लिए कहती तो वह बहानेबाजी करता। 2019 की शुरुआत में विकास की पत्नी ने युवती को फोन पर धमकी भी दी। 

महिला थाना पुलिस में जबरदस्ती उठा ले गए
युवती के मुताबिक, विकास गर्ग ने 11 जून को उसके पास सामान्य दिनों की तरफ फोन किया। उसको शाम यमुना एन्क्लेव के पास मिलने के लिए बुलाया। वह शाम को लगभग 07.30 बजे वहां पहुंचा। बातों-बातों में उसकी जेब से कुछ पैसे गिर गए। विकास पैसे उठाने के बहाने उसके पैरों को हाथ लगाने लगा। इस बीच, वहां पुलिस पहुंच गई और उसे ब्लैकमेलिंग के पैसे वसूलने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया। जबरदस्ती पुलिस वैन में डालकर महिला थाने ले जाया गया। युवती का आरोप है कि वहां उसके मोबाइल में विकास के खिलाफ सुबूत नष्ट कर दिए गए। 

 

पुलिस की किरकिरी के ये दो कारण
नंबर-एक
पुलिस देर शाम को ही युवती को गिरफ्तार कर कोर्ट में ले गई। जज ने पुलिस से पूछा कि क्या सूर्यास्त के बाद महिला को गिरफ्तार करने के लिए कोर्ट से अनुमति ली थी। इस पर पुलिस जवाब नहीं दे पाई तो उसे छोड़ दिया गया। 

नंबर-दो
इसके बाद युवती ने फोटो और वीडियो पेश किए। जिसमें विकास गर्ग और युवती दोनों खुश नजर आ रहे हैं। पुलिस ने कोर्ट के आदेश पर फोटो और वीडियो को आधार मानकर अपनी जांच शुरू करनी पड़ी। 

 

पुलिस ने कोर्ट के आदेश पर युवती के पेश वीडियो और फोटो की बारीकी से जांच की। उसकी शिकायत लेकर विकास गर्ग पर शादी का झांसा देकर दुराचार करने और जान से मारने की धमकी देने की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है। युवती के मामले की भी साथ में जांच की जा रही है। महिला पुलिसकर्मियों की इस मामले में कोई संलिप्ता नहीं है। ऐसी कोई शिकायत मिलती है तो जांच की जाएगी। 
सतीश कुमार वत्स, डीएसपी मुख्यालय। 

महिला थाना पुलिस ने मेडिकल कराया 
युवती का महिला थाना पुलिस ने मेडिकल कराया। इसके बाद उसे कोर्ट में पेश कर 164 के बयान दर्ज कराए गए। युवती ने आरोपित उद्योगपति से परिवार के सदस्यों को जान का खतरा होने की बात कहकर सुरक्षा की मांग की है।

दस साल तक किया ब्लैकमेल 
युवती ने बताया कि उद्योगपति खुद को उसकी पत्नी से परेशान होने की बात कहता। संबंध बनाए रखने और कानूनी कार्रवाई से बचने के लिए ही उसने मेंहदीपुर में शादी की। लोगों के सामने उसे बेटा कहकर पुकारता था। युवती ने बताया कि आरोपित ने उसे दस साल तक ब्लैकमेल किया। आठ से दस बार उसका गर्भपात भी कराया गया।