वाशिंगटन। कोरोना के डेल्टा वैरिएंट की घातकता को लेकर दुनियाभर में में चिंता जताते हुए विशेष सतर्कता बरती जा रही है। अब अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने कोरोना के डेल्टा वैरिएंट को खतरनाक बता अमेरिकियों को चेतावनी देते हुए जल्द से जल्द वैक्सीन लेने की अपील की है। बाइडन ने व्हाइट हाउस में कहा कि कोरोना के नए वैरिएंट बिना टीकाकरण वाले लोगों को एक महीने पहले की तुलना में और भी अधिक असुरक्षित बना देंगे। यह इसलिए कि विशेषज्ञ डेल्टा वैरिएंट को घातक बता रहे हैं। यह कोरोना वायरस का एक ऐसा वैरिएंट है जो अधिक आसानी से प्रसारित, संभावित रूप से घातक और विशेष रूप युवा लोगों के लिए खतरनाक है।
  विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कोरोना वायरस के डेल्टा वैरिएंट को चिंताजनक प्रकार की अपनी सूची में शामिल किया है क्योंकि यह कुछ देशों में तेजी से फैला है, विशेष रूप से भारत में संक्रमण में इससे तेज वृद्धि हुई जहां इसे पहली बार पाया गया था। कोरोना वायरस महामारी की दो लहरों का सामना करने वाले ब्रिटेन में डेल्टा वैरिएंट का कहर काफी तेजी से बढ़ता जा रहा है। यूके में सिर्फ एक हफ्ते में कोरोना वायरस के डेल्टा वैरिएंट के 33 हजार 630 केस बढ़ गए। इसको मिलाकर ब्रिटेन में डेल्टा वैरिएंट के कुल मामले अब बढ़कर 75 हजार 953 हो गए हैं। ब्रिटिश हेल्थ एजेंसी की मुख्य कार्यकारी जेनी हैरिस ने कहा है कि देशभर में तेजी से मामले बढ़ रहे हैं और अब डेल्टा वैरिएंट हावी है। भारत में सबसे पहले पाया गया यह वैरिएंट ज्यादा संक्रामक बताया जा रहा है। इसको लेकर डब्ल्यूएचओ ने भी अपनी चिंता जताई है और दुनिया के सभी देशों से सतर्क रहने को कहा है।